हल्द्वानी: रोहित के अंतिम शब्द – नहाने का मजा तभी है जब तक बॉडी फूूलकर बाहर न आये, चार दिन बाद यहां मिली लाश

ROHIT HALDUCHOUR
खबर शेयर करें

Pahad Prahat News Haldwani:आखिरकार कोसी नदी में नहाने गये लापता हुए रोहित का शव 68 घंटे बाद चमडिय़ा क्षेत्र के पास पत्थरों में फंसा मिला। मंगलवार एसडीआरएफ की दो टीमें सुबह चार बजे से सर्च अभियान चला रही थीं। शव को टीम ने बमुश्किल नदी से बाहर निकाला। जिसके बाद पुलिस टीम ने पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए शव को नैनीताल भेज दिया है। रोहित के भाइयों ने बताया कि वह बार-बार 10 मिनट में नहाकर लौटने की बात कहता रहा, पर बीच में बोला कि नहाने का मजा तब ही है जब बॉडी फूल कर ऊपर न आ जाए। रोहित के बोले शब्द सबको सन्न कर गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: 10 को होगी कुमाऊनी बोली बचाने पर गोष्ठी, आपुण बोली, आपुण पछयांण

बता दें कि हल्दुचौड़ निवासी रोहित कुमार पुत्र प्रकाश चंद अपने भाई और साथियों के साथ बीते शनिवार को नावली क्षेत्र में कोसी नदी में नहाने उतरा था। नहाते समय वह भंवर में फंस गया थोड़ी देर में ओझल हो गया। सूचना के बाद एसडीआरएफ की दो टीमों के साथ ही एनडीआरएफ ने भी सर्च अभियान चलाया। लेकिन रोहित नहीं मिला।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पिथौरागढ़ में 38 साल के युवक ने की नाबालिग से शादी, गिरफ्तार

मंगलवार सुबह एसडीआरएफ की दो टीमें एक बार फिर कोसी नदी में रोहित को खोजने निकली कि तभी चमडिय़ा के पास शव दिखाई दिया। एसडीआरएफ की टीम ने शव को कोसी नदी से बाहर निकालने का प्रयास किया। तेज बहाव ने एसडीआरएफ के जवानों की कई बार परीक्षा ली। बड़ी मुश्किल शव को नदी के बीच से बाहर निकाल हाईवे तक पहुंचाया गया। सूचना पर परिजनों ने शव की रोहित के रूप में शिनाख्त की। चौकी पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए नैनीताल भेजने की तैयारी शुरू कर दी है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *