उत्तराखंड: पहाड़ में रिश्तेदारी में जा रही आमा पर गुलदार का हमला, क्षत-विक्षत हालत में मिली लाश…

GULDAR ATTACE RANIKHET WOMEN DEATH
खबर शेयर करें

TARIKHET CRIME NEWS:पहाड़ों में गुलदार और मानव के संघर्ष की कहानी कई दशकों से चली आ रही है। लगातार वन्यजीवों के हमले की खबरें पहाड़ों से आती रहती है। अब रानीखेत के ताड़ीखेत से एक दिल दहलाने वाली खबर आयी है। जहां एक व़ृद्धा को गुलदार ने अपना शिकार बना डाला। वृद्धा का शव क्षत-विक्षत हालत में मिला। शव मिलने से क्षेत्र में डर का माहौल पैदा हो गया। बताया जा रहा है कि वृद्धा का शरीर बुरी तरह से नोचें होने के कारण ग्रामीणों ने गुलदार के हमले की आशंका जताई है। जिसके बाद वन विभाग नेे गांव में पिंजरा लगा दिया है। राजस्व पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गोविंद सिंह मेहरा राजकीय चिकित्सालय भेजा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  UKSSSC पेपर लीक: एसटीएफ के हाथ लगा और एक नकल माफिया, स्कोर पहुंचा 34

वृद्धा को बनाया शिकार

शनिवार को ऊणी महादेव रोड पर एक वाहन चालक के सडक़ किनारे एक शव पड़ा देखा। सूचना ग्राम प्रधान देवेंद्र पांडे अन्य ग्रामीणों के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। जिसके बाद शव की शिनाख्त ग्राम पीपली निवासी हाल निवासी ताड़ीखेत 87 वर्षीय नंदी देवी पत्नी डोल सिंह के रूप में की गई। परिवार के लोगों ने बताया कि नंदी देवी शुक्रवार की शाम ऊंणी गांव में रहने वाले अपने रिश्तेदार के यहां पथुली से नीचे पैदल जा रही थी। वृद्धा के कमर से नीचे का हिस्सा जंगली जानवर द्वारा बुरी तरह से नोचा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड:(बड़ी खबर)- Uksssc पेपर लीक में उत्तराखंड पुलिस का जवान गिरफ्तार, घर से उपलब्ध कराए थे पेपर

गुलदार के लिए लगाया पिंजरा

हादसे की सूचना के बाद तहसीलदार निशा रानी और वन विभाग के अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे। ग्रामीणों ने नंदी देवी पर गुलदार के हमला करने का अंदेशा जताया। वन विभाग ने गांव में पिंजड़ा लगा दिया है। वहीं राजस्व उपनिरीक्षक ख्याली आर्या का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला जंगली जानवर के हमले का ही लग रहा है। गुलदार भी कमर से नीचले हिस्से पर वार करते हैं। वृद्धा के कमर से नीचे का हिस्सा क्षत विक्षत है। फिलहाल पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए शव राजकीय अस्पताल रानीखेत भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *