उत्तराखंडः रिलीज हुआ “जय डोबरी माई” भजन, फिर चला लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी की सुरीली आवाज का जादू…

खबर शेयर करें

Haldwani News: उत्तराखंड के सुपरस्टार लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी का नया भजन इन दिनों लोगों को खूब भा रहा है। लंबे समय बाद आये इस भजन की लोगों ने जमकर तारीफ की है। इससे पहले लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी गोपुलि जैसे सुपरहिट गीतों से बड़ा नाम कमा चुके है। अब उनका भजन “जय डोबरी माई” ने पहाड़ की देवी के गुणवान और उनके चमत्कार को लोगों तक पहुंचाने का काम किया है। यह भजन उनके यूट्यूब चैनल आरबीजी गोपाल बाबू गोस्वामी पर सुनने को मिल जायेगा। आगे पढ़िए…

पहाड़ प्रभात से खास बातचीत में लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी ने बताया कि देवभूमि में कण-कण में भगवान निवास करते है। पहाड़ों में हमारे कई देवी-देवताओं के मंदिर बसे है, जिनमें लोगों की गहरी आस्था है। ऐसे में जय डोबरी माई की आस्था को लेकर इस भजन को उन्होंने खुद लिखा है। जबकि संगीत सागर सिलौड़ी ने दिया है। इस गीत के निर्माता और निर्देशक सामाजिक कार्यकर्ता लाल सिंह गड्डू दा है। उन्होंने भजन में रमेश बाबू के साथ अपने अभिनय से दर्शकों को दिल जीता है। सामाजिक कार्यकर्ता लाल सिंह गड्डू दा सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते है। अब इस भजन में अभिनय कर उन्होंने लोगों की खूब वाहवाही लूटी है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: कैबिनेट की बैठक आज, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी ने बताया कि जल्द उनके कई नये गीत रिलीज होने जा रहे है। जो लोगों को खूब पसंद आयेंगे। पहाड़ की रीति-रिवाज और विलुप्त हो रही चीजों को लेकर वह नया गीत लेकर आने वाले है। इस साल उनके कई गीत लोगों को सुनने को मिलंेंगे। उनके यूट्यूब चैनल 80 हजार से ऊपर सब्सक्राइबर हो चुके है। उनके गोपुलि गीत डेढ़ करोड़ से ऊपर व्यूज मिले है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से लोगों ने उनके गीतों को प्यार दिया है। वैसे ही प्यार आने वाले गीतों को भी मिलेगा। उन्हें पूरी उम्मीद है।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]