उत्तराखंडः तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचा इकलौते बेटे के पार्थिव शरीर, बदहवास हुई मां और पत्नी…

Martyr Bhuvan Bhatt
खबर शेयर करें

SHANTIPURI NEWS: गुरूवार को पटियाला के भाखड़ा की इंदिरा नहर में बहे डीप ऑर्डिनेंस यूनिट के सैनिक भुवन चंद्र भट्ट का पार्थिव शरीर को शांतिपुरी के जवाहर नगर स्थित उनके घर लाया गया। पार्थिव शरीर पहुंचते ही घर में कोहराम मच गया। माता पिता के इकलौते पुत्र सैनिक भुवन का पार्थिव शरीर के घर पहुंचते ही उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम पहले से ही मौजूद था। आगे पढ़े…

यह भी पढ़ें 👉  Good News: UGC ने दी सूचना, नॉन टीचिंग स्टाफ के कई पदों पर होगी भर्ती...

सैनिक भुवन के गम में बदहवास पत्नी पूजा, मां ईश्वरी देवी, बहन कुसुम और पिता हरीश दत्त भट्ट बार-बार भुवन के ताबूत से लिपटकर रोते-बिलखते रहे। इसके बाद जवान की अंतिम यात्रा निकाली गई। भारत माता की जय, भुवन जब तक सूरज चांद रहेगा तब तक तेरा नाम रहेगा, वंदे मातरम- वंदे मातरम आदि देशभक्ति नारों के साथ भुवन को सभी ने नम आंखों से विदाई दी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand-(बड़ी खबर)-अब नहीं काटने पड़ेंगे निकायों में चक्कर, ऐसे बनेंगे जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र

अंतिम यात्रा 11 बजे रानीबाग स्थित चित्रशिला घाट पहुंची। सैनिक भुवन को पूरे सैन्य सम्मान के साथ सशस्त्र सैनिक टुकड़ी ने उन्हें तीन राउंड फायरिंग कर सलामी दी। भुवन की चिता को उनके चचेरे भाई भुवनेश भट्ट व किशोर भट्ट ने मुखाग्नि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *