उत्तराखंडः जम्मू कश्मीर में पशुपालन व डेयरी समर मीट 2023 में शामिल हुए मंत्री बहुगुणा, बताई पशुपालकों की खूबियां…

खबर शेयर करें

Dehradun News: जम्मू कश्मीर में चल रहे पशुपालन व डेयरी क्षेत्र के लिए समर मीट 2023 के दूसरे दिन आज उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने अपने संबोधन के दौरान उत्तराखंड राज्य के विभिन्न मुद्दों से सभी को अवगत कराया। इस मौके पर मंत्री बहुगुणा ने कहा कि उत्तराखंड एक पहाड़ी राज्य है जहां, लोग पहाड़ों से मैदानी क्षेत्र में लगातार पलायन कर रहे है। इसे रोकने के लिए सरकार ने पशुपालन और डेयरी क्षेत्र में कई तरह की योजनाएं चलाई है। जिनका लाभ लेकर आज उत्तराखंड वो युवा इस कार्य से जुड़ गये है जो कभी पशुपालन और डेयरी क्षेत्र में काम करने कतराते थे। लेकिन सरकारी योजनाओं के लाभ मिलने से आज वही युवा अन्य पशुपालकों के लिए प्रेरणास्त्रोत बने है। आगे पढ़िए…

मंत्री बहुगुणा ने कहा कि उत्तराखंड में अधिकांशतः चिकन और अंडों के लिए यूपी पर निर्भर है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों से उत्तराखंड में चिकन और अंडों की सप्लाई होती है। इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने पशुपालन व डेयरी क्षेत्र में काम कर रहे युवाओं को आगे बढ़ाया। सरकार ने पांच पहाड़ी जिलों में इस काम पर फोकस किया। जिसमें सरकार ने 2000 परिवारों को पोल्टी फार्म से जोड़ने का लक्ष्य रखा था। जिसमें सरकार छह माह में 1500 परिवारों को जोड़ चुकी है। हमारी कोशिश है उत्तराखंड आत्मनिर्भर बने उसके लिए हमार प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की हरसंभव मदद, पशुपालन विभाग से लेकर डेयरी और समस्त विभागों के क्रियान्वयन को हमेशा समर्थन देने के लिए भारत सरकार और केंद्रीय मंत्रियों का आभार प्रकट किया।आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: हिमाचल में हल्द्वानी विधायक सुमित हृदयेश ने मांगे कांग्रेस प्रत्याशी आनंद शर्मा के लिए वोट

मंत्री बहुगुणा ने कार्यक्रम में शामिल केंद्रीय मंत्री पशुपालन डेयरी एवं मत्स्य पालन परशोत्तम रुपाला, केंद्रीय राज्य मंत्री मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी डॉ. संजीव बालियान, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा एवं केंद्रीय राज्य मंत्री मत्स्य पालन, पशुपालन, डेयरी, सूचना एवं प्रसारण डॉ. एल मुरुगन के साथ सम्मिलित होने का आभार जताया। साथ ही उन्होंने पशुपालन एवं डेयरी के लिए समर मीट 2023 के आयोजन को सफल बनाने के लिए भारत सरकार और जम्मू कश्मीर प्रशासन का धन्यवाद भी अदा किया।

Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]