उत्तराखंड: भारत को अंडर-19 वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले कप्तान उन्मुक्त चंद ने भारतीय क्रिकेट को कहा अलविदा, उत्तराखंड से है गहरा नाता

unmukt chand
खबर शेयर करें

UNMUKT CHANDRA THAKUR: भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी के बाद जिसने लोगों का ध्यान अपनी तरह खींचा वो थे उन्मुक्त चंद। धौनी के बाद वह उत्तराखंड मूल के दूसरे खिलाड़ी बने थे। इसके बाद आज भारतीय टीम में उत्तराखंड से मनीष पांडेय, रिषभ पंत, कमलेश नगरकोटी, पवन नेगी, आर्यन जुयाल जैसे खिलाड़ी खेल रहे है। लेकिन एक दौरान था जब उन्मुक्त का बल्ला खूब बोला। मूलरूप से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के रहने वाले उन्मुक्त चंद वर्ष 2012 अंडर-19 वल्र्ड कप विनर टीम के कप्तान उन्मुक्त चंद थे। ऑस्टे्रलिया के खिलाफ उनकी शतकीय पारी ने सबको चौका दिया था लेेकिन आज उन्मुक्त चंद ने भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। अब वह अपनी बल्लेबाजी का जौहर यूएस में दिखाते हुए नजर आएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः भर्ती घोटाले पर आये नरेन्द्र नेगी ने नये गीत "लोकतंत्र मा" से किया नेताओं पर कटाक्ष, आप भी सुनिएं

उन्मुक्त चंद ने ट्वीट कर अपने संन्यास की घोषणा की है। हालांकि उन्होंने फिलहाल यह नहीं लिखा है कि वे अमेरिका की तरफ से खेलेंगे। उन्मुक्त ने टिवटर पर लिखा, ‘ क्रिकेट एक यूनिवर्सल खेल है और हो सकता है कि मतलब बदल जाएं लेकिन मकसद हमेशा एक ही रहता है और वह है- टॉप लेवल पर खेलना। साथ ही मेरे सभी समर्थकों और चाहने वालों का शुक्रिया जिन्होंने हमेशा मुझे दिल में जगह दी। आप जैसे हैं उससे लोग प्यार करें इससे बेहतर कोई भावना नहीं होती। मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि मेरे पास ऐसे लोग हैं। सबका शुक्रिया। अगले अध्याय की तरफ बढ़ते हैं।’

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: मुख्यमंत्री के आदेश पर हल्द्वानी में भैंस चोरी का मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला
UNDR-19 WORD CUP TEAM UNMUKT CHAND

उन्मुक्त चंद ने सबका ध्यान पहली बार अपनी तरफ तब खींचा था जब उनकी कप्तानी में भारतीय अंडर 19 टीम ने साल 2012 में वर्ल्ड कप खिताब जीता था। अंडर-19 टीम के पूर्व कप्तान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मैच में शतक (111*) जड़ भारत को अंडर-19 विश्व कप का खिताब जिताया था। 28 साल के उनमुक्त का घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन रहा है। उनमुक्त ने अमेरिका में क्रिकेट खेलने के चलते यह फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: Uksssc पेपर लीक से जुड़ी बड़ी खबर, देर रात पूर्व सचिव बडोनी निलंबित

इससे पहले उनके साथी खिलाड़ी रहे स्मित पटेल भी भारतीय क्रिकेट छोड़कर अमेरिका चले गए थे।उनमुक्त ने घरेलू क्रिकेट की शुरुआत साल 2010 में की थी। वह आठ सीजन तक टीम के लिए खेले। इस बल्लेबाज ने 67 प्रथम श्रेणी मैचों में 31.57 की औसत से 3379 रन बनाए हैं। वहीं, लिस्ट ए क्रिकेट में उनमुक्त ने 41.33 की औसत से 4505 रन बनाए हैं। इसके अलावा टी-20 क्रिकेट में उन्होंने 1565 रन बनाए हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *