हल्द्वानी। शहर में हुई अनोखी बारात, न बैंड न बाराती मात्र 17 मिनट में हुई शादी

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। आजकल का युवा कई मिसाल दे रहा है। एक ओर जहां लोग शादियों में लाखों खर्च कर रहे वही दिखावे और अनावश्यक खर्च से परहेज कर कमल और रीतू ने सादगी से शादी कर समाज को एक बड़ा सन्देश दिया। इस बारात की खास बात यह थी कि न बैंड बजा न बराती आए। कबीर साहेब और गुरु प्रतिमा को साक्षी मानकर दोनों ने 17 मिनट में विवाह कर लिया। विवाह में दोनों पक्षों ने एक रुपया भी दहेज का लेनदेन नहीं किया। विवाह में कोरोना गाइड लाइन का पूरी तरह पालन किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: कई जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, भूस्खलन की चपेट में आने से महाराष्ट्र निवासी महिला की मौत

जानकारी के अनुसार किड़ई, दुग नाकुरी बागेश्वर निवासी कमल चौहान पुत्र इंद्र सिंह और पिथौरागढ़ निवासी रीतू पुत्री भगवान सिंह बसेड़ा ने गुरुवार को बिठौरिया, ऊंचापुल में खुशाल सिंह मेहता के घर में सादगी से विवाह किया। खुशाल सिंह रिश्ते में दूल्हे के मामा हैं। दूल्हा दुल्हन ने किसी प्रकार के आभूषण भी नहीं पहने। कमल जलागम कपकोट में कार्यरत है। रीतू ने एमए की पढ़ाई पूरी की है। शहर भर में सादगी वाला यह विवाह चर्चा का विषय बना रहा।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *