हल्द्वानी: चंडीगढ़ लैब सुलझायेंगी फायर स्टेशन आरक्षी आत्महत्या की गुत्थी, मोबाइल से खुलेगा राज

mukesh joshi sucide wife mobiel
खबर शेयर करें

HALDWANI CRIME NEWS: विगत सात अगस्त को फायर स्टेशन में कार्यरत आरक्षी मुकेश जोशी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद मृतक की बहन ने भाभी पर उत्पीडऩ का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी है। आत्महत्या के मामले में पुलिस जांच में जुट गई है। मृतक की पत्नी को आरोपी बनाया गया है। जिसके बाद पुलिस ने मृतक के मोबाइल फोन व आरोपी पत्नी के आइफोन कब्जे में ले लिया है। जिसमें मौजूद डाटा के आधार की केस के कई राज खोल सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः शिक्षक ने डस्टर मारकर छात्रा का सिर फोड़ा, बाल-बाल बची आंख…

इस केस में आरटीओ चौकी प्रभारी निर्मल लटवाल विवेचना अधिकारी हैं। विवेचना अधिकारी निर्मल लटवाल ने बताया कि मृतक के फोन में पैटर्न लॉक लगा हुआ है। इसे अलावा मृतक की आरोपी पत्नी के आइफोन में मौजूद चैट को भी पुलिस प्राप्त करना चाहती है। जिसमें मृतक की पत्नी के गायब फोन को एक मोबाइल की दुकान से बरामद किया गया। इस मामले में दुकानदार ने बताया कि मृतक ने ही पूर्व में दुकान पर मोबाइल फोन ठीक करने के लिए दिया था। लेकिन फोन में पैटर्न लॉक होने के चलते उसे भी खोला नहीं जा सका है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: अंकिता व प्रिया को न्याय दिलाने की मांग पर व्यापारियों का हल्दूचौड़ बंद

अब आरक्षी आत्महत्या में दोनों मोबाइल फोनों से अहम सुराग मिल सकते है। जिसका डाटा पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण हो गई है। हालांकि स्थानीय स्तर पर लॉक खोलने का प्रयास किया लेकिन लॉक नहीं खुल सका। अब उसे चंडीगढ़ स्थित लैब भेजा जा रहा है। जहां डाटा को सुरक्षित रखते हुए उसे अनलाक किया जाएगा। डाटा मिलने के बाद पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लग सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *